Skip to content
Home » कुमाउँनी भजन लिरिक्स | ओ मैया भवानी मैया | Kumauni Bhajan lyrics in hindi

कुमाउँनी भजन लिरिक्स | ओ मैया भवानी मैया | Kumauni Bhajan lyrics in hindi

मित्रों नवरात्रि के शुभ अवसर पर , कुमाउनी लोकगायिका खुशी जोशी और गोविंद दिगारी द्वारा निर्मित , खुशी जोशी जी द्वारा गया हुवा माता रानी का सुंदर कुमाउनी भजन ओ मैया,भवानी मैया के लिरिक्स और उसका वीडियो के लिंक यहाँ संकलित कर रहे हैं। उम्मीद है,आपको यह कुमाउनी भजन lyrics पसंद आएगा।

कुमाउनी भजन

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

मेरी मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी,

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

दैणा हैयी जाए मैया, त्येरी खुटी सलामी ।।

जय हो ………

ओ मैया भवानी मैया .. ओ मैया भवानी

दैणा होई जाए  मैया, त्येरी खुटी सलामी।।

पाखु की कोटगाड़ी मैया बड़ी न्यायकारी ।

पाखु की कोटगाड़ी मैया बड़ी न्यायकारी ।

हाट की माँ महाकाली रखिये सुखयारी।।

बड़ी न्यायकारी मैया .. 

रखिये सुखयारी मैया …..

गुरना मैया, सौरयालों की सुण लिया पुकारा।

देवीधुरा बाराही मैया ,त्येरी जै जै कारा।।

रानीखेता में झूला देवी बड़ी वरदानी ।

अल्मोड़ा कसार देवी नंन्दा महारानी ।।

जय हो ….

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

मेरी मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी,

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

दैणा हैयी जाए मैया, त्येरी खुटी सलामी ।।

हल्द्वानी माँ शीतला ले करी छत्र छाया ।

शाकोट की उल्का मैया त्येरी लागी रे माया ।।

करी रे छाया .. त्येरी छत्र छाया …

कर रखिये छाया …..

कुंजापुरी सुरकंडा को टिहरी में छो वासा।

गढ़वाल की धारी देवी सुनिया मेरी घाद ।।

हरिद्वार में मनसा मैया बल बुद्धि की दानी ।

बदियाकोट भगवती माँ शिवजयु की पटरानी ।।

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

मेरी मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी,

ओ मैया भवानी मैया, ओ मैया भवानी ।

दैणा हैयी जाए मैया, त्येरी खुटी सलामी ।।

पौड़ी गढ़वाल मैया ज्वाल्पा को धाम।

रामनगर गर्जिया माँ करनू प्रणाम ।।

ज्वाल्पा को धाम ….करनू प्रणाम ।

पूर्णागिरी दुनागिरी चमत्कारी माता।

बागेश्वर की भद्रकाली ख्वार में धरिये हाथ ।।

गोविंद खुशी मैया ,गुण त्यारा गानी।

उत्तराखण्ड भूमि मेरी द्यप्तों की निशानी ।।

जै मैया भवानी मैया ओ मैया भवानी…

 

यहाँ देखें कुमाउनी भजन का वीडियो –

गीत के बारे में :- 

यह कुमाउनी भजन लोकगायिका खुशी जोशी जी ने गाया है। और इसके निर्माता व निर्देशक भी खुशी जोशी जी और गोविंद दिगारी जी है। इस भजन का निर्माण ,हल्द्वानी के वैदिह स्टूडियो में हुवा है।

ज्वाल्पा माई पैड़ी गढ़वाल की ऐतिहासिक कहानी और सम्पूर्ण इतिहास जानने के लिए यहां क्लिक करें।

घुघुती घुरोण लगी मेरा मैत की, लिरिक्स….एक विरह से भरा उत्तराखणी लोक गीत ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.